What is Zika Virus 2021, Symptoms, Causes and Best Treatment in Hindi | जीका वायरस क्या है? जानें लक्षण और बचाव के 10 तरीके

जीका वायरस क्या है? (What is Zika Virus)

कोरोना वायरस (Coronavirus) और ब्लैक फंगस के कहर का प्रकोप अब भी खत्म नहीं हुआ है और इस बीच एक और खतरनाक जीका वायरस (Zika Virus 2021) ने भी दस्तक दे दी है। केरल के बाद अब यूपी में भी जीका वायरस के संक्रमण का केस सामने आया है। सभी लोगों के दिमाग में ये प्रश्न है कि जीका वायरस क्या है (What is Zika Virus) ? तो चलिए दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम यही बताने वाले हैं कि आखिर जीका वायरस क्या है (What is Zika Virus?)

क्या है जीका वायरस ? (What is Zika Virus)

जीका वायरस एक मच्छर जनित संक्रमण है. यह संक्रमण मच्छर की प्रजाति से फैलता है जिससे डेंगू भी फैलता है, यानी एडीस मच्छर । यह फ्लेविवाइरिडे फैमिली का एक वायरस है। इसी फैमिली से डेंगू वायरस, चिकनगुनिया, येलो फीवर, वेस्ट नाइल वायरस आदि संक्रमण भी  संबंध रखते हैं।

 

what is zika virus
                                                                                    What is Zika Virus

जीका वायरस वायरस कैसे फैलता है?  ( Zika virus is spread by)

जीका वायरस संक्रमित खून से फैलता है। जब कोई संक्रमण रहित एडीज मच्छर जीका वायरस से संक्रमित किसी व्यक्ति को काटता है तो वह भी संक्रमित हो जाता है। इसके बाद वह जिस भी स्वस्थ व्यक्ति को काटेगा, उसे भी संक्रमित कर देगा।

आमतौर पर, यह मच्छर दिन और शाम के समय ही काटता है। एडीज मच्छर से ही डेंगू, चिकनगुनिया और येलो फीवर भी फैलता है। ये वायरस सलाइवा और सीमेन जैसे शरीर के तरल पदार्थ के आदान-प्रदान से संक्रामक हो सकता है।

इसके अलावा असुरक्षित शारीरिक संबंध से भी जीका वायरस फैलता है । जिसके कारण जीका वायरस इंफेक्शन का गर्भवती महिलाओं और भ्रूण तक पहुंचने का भी खतरा बन सकता है.

इससे प्रभावित क्षेत्रों में यौन संबंध के दौरान कॉन्डम का इस्तेमाल करना चाहिए । वहीं, अगर कोई महिला असुरक्षित यौन संबंध के बाद जीका वायरस के खतरे के कारण गर्भवती होने से बचना चाहती है, तो उसे जल्द से जल्द गर्भनिरोध के तरीके अपनाने चाहिए। 

विश्व और भारत में जीका वायरस का इतिहास (History of Zika Virus in World and India )

जीका वायरस साल 1947 में यूगांडा के जीका जंगल में रहने वाले बंदरों में सबसे पहले ये वायरस पाया गया था। जिसके बाद इस वायरस का नाम जीका वायरस रखा गया। 1952 में युगांडा और तंजानिया में यह पहली बार इंसानों में पाया गया।

सन् 1952 में इसे औपचारिक रूप से एक खास वायरस माना गया। एशिया के अंदर जीका वायरस 1970 के दशक में प्रवेश कर चुका था. जिससे कारण पाकिस्तान और इंडोनेशिया में इसके कुछ मामले दर्ज किए गए ।

भारत में जीका वायरस का पहला आधिकारिक मामला 2017 में गुजरात में देखा गया, जिसके बाद यह तमिलनाडु भी पहुंचा ।

जीका वायरस के कारण जन्मजात विकार ( Zika Virus and Pregnancy )  

जीका वायरस गर्भवती महिला से भ्रूण तक पहुंच सकता है. गर्भवती के ज़ीका वायरस से संक्रमित होने पर पहले व दूसरे तिमाही में भ्रूण में विकृति की आशंका ज्यादा रहती है। शिशु का सिर छोटा होना, मस्तिष्क संबंधी रोग की आशंका रहती है।

जन्म के समय शिशु का सिर छोटा होना (microcephaly) व अन्य जन्मजात विकार हो सकते हैं, जिन्हें कॉन्जेनिटल जीका सिंड्रोम (Congenital Zika Syndrome) कहा जाता है ।

इन जन्मजात विकारों के कारण शिशु को जोड़ों की संरचना में समस्या, आंखों में दिक्कत व सुनने में परेशानी जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

पिछले कुछ सालों से दुनिया के कई देशों में बेहद छोटे सिर और अविकसित मस्तिष्क वाले बच्चे जन्म ले चुके हैं। यह जीका वायरस की वजह से ही है। ब्राजील में करीब 1600 बच्‍चे साल 2015 में कई विकारों के साथ पैदा हुए थे।

 

What is Zika virus 2021
                        Zika virus treatment

जीका वायरस के लक्षण क्या हैं?  ( Symptoms of Zika Virus  )

जीका वायरस से संक्रमित बहुत से लोगों में कोई लक्षण दिखाई नहीं देते हैं। जीका वायरस के लक्षण भी डेंगू और वायरल की तरह ही हैं । कुछ लोगों को बेहद हल्के लक्षण होते हैं।

आमतौर पर संक्रमित मच्छर के काटने के 3 से 14 दिन बाद इसके लक्षण दिखने शुरू होते हैं। इन्हीं लक्षणों व संकेतों और ट्रेवल हिस्ट्री के आधार पर ही जीका वायरस के मामले की पुष्टि की जाती है । 

Zika Virus के लक्षण

जीका वायरस के निम्नलिखित लक्षण हैं :

  • तेज बुखार आना।
  • जोड़ो में दर्द होना।
  • शरीर पर लाल चकत्ते आना।
  • थकान महसूस करना।
  • आंखों का लाल होना।
  • सिरदर्द होना।

 

Zika Virus is spread by
            How does Zika Virus transmitted

जीका वायरस से बचा कैसे बचा जा सकता है ? (Prevention of Zika Virus in Hindi)

कोरोना महामारी के बीच फैल रहे जीका वायरस का भी अभी तक कोई इलाज मौजूद नहीं है। जीका वायरस के संक्रमण को रोकने का तरीका सिर्फ बचाव और सही जानकारी रखना है. सामान्य दर्द और बुखार दवाओं से ज़िका वायरस का इलाज किया जा सकता है।

जब किसी व्यक्ति को जीका संक्रमण से निदान किया गया है तो आराम और भरपूर पानी के सेवन की सलाह दी जाती है। चूंकि जीका मच्छरों से फैलती है, उनसे बचने का मतलब है जीका से बचना।

जीका वायरस से बचाव के उपचार

  • अपने घर में काला हिट जैसे मच्छर स्प्रे को छिड़कना बेहद सहायक हो सकता है।
  • मच्छरों से बचने के लिए फुल आस्तीन की शर्ट और पैंट पहनें।
  • ऐसी जगहों पर रहें जहां AC हो और खिड़की, दरवाजों और रोशनदान में जाली लगी हो।
  • घर के भीतर मच्छरों से बचने के लिए तरीकों को अपनाएं। कहीं भी पानी भरा न रहने दें।
  • छोटे बच्चों के लिए मच्छरदानी का इस्तेमाल करें।
  • मच्छरो के प्रजनन को रोकने के लिए किसी भी खाली बर्तन या जगह पर बारिश का पानी इकट्ठा ना होने दें।
  • अगर कमरे में एसी और जालीदार खिड़की-दरवाजे या रोशनदान न हों तो मच्छरदानी लगाकर ही सोएं।
  • अपने कूलर, पानी की टंकी, पौधों आदि को समय-समय पर साफ करें।
  • किसी भी ऐसी जगह यात्रा न करें जहां जीका वायरस के केस मिल रहे हों।
  • खासतौर से, दिन और शाम के समय पूरी बाजू और पैरों को ढकते हुए कपड़े पहनें।
  • अधिक मात्रा में तरल पदार्थो का सेवन करे।

 

जीका वायरस होने पर क्या करे? ( Zika Virus treatments )

जीका वायरस का कोई टिका अभी तक उपलब्ध नहीं हुआ है। किंतु इसके सुधार करने लिए तुरंत चिकिस्तक से संपर्क करें। जीका वायरस की कोई सटीक दवा नहीं है। इसके लक्षणों का इलाज किया जाता है।

क्या है इसका इलाज?

  • पूरी तरह आराम करें।
  • डिहाइड्रेशन से बचने के लिए भरपूर पानी पिएं।
  • बुखार और दर्द को कम करने के लिए पैरासिटामॉल ले सकते हैं।
  • एस्प्रिन और कोई दूसरी नॉन स्टेरोइडल एंटी इंफ्लेमेटरी ड्रग न लें।
  • अगर आप किसी और बीमारी के लिए दवा लेते हो तो डॉक्टर की सलाह से कोई दवा लें।
  • मच्छरों के काटने से खुद को बचाएं।
  • अपने किसी बॉडी फ्लूड जैसे खून, स्लाइवा, सीमन आदि से अपने तीमारदार या परिवारवालों को बचाएं।

यह भी जरुर पढ़ें :

निपाह वायरस क्या है? इसके लक्षण क्या हैं? इसके संक्रमण से कैसे बचें?

7 दिन में सफेद बालों को जड़ से काला करने का चमत्कारिक उपाय

12 Helpful Tips For Thyroid Remedies in Hindi 2021

जीका वायरस के लिए वैक्सीन (Zika virus vaccine)

जीका वायरस के लिए फिलहाल कोई एंटी फंगल दवा या वैक्सीन का निर्माण नहीं हुआ है। वर्तमान में जीका वायरस संक्रमण का इलाज या रोकथाम करने के लिए कोई वैक्सीन नहीं है। वायरस के फैलाव को काबू करने का एक ही तरीका मच्छर के काटने को रोकना है।

इससे संक्रमित लोगों को डॉक्टर, पर्याप्त आराम और हाइड्रेट रहने की सलाह देते हैं। इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति को खूब सारा पानी पीने के लिए कहा जाता है जिससे इसे कम करने में मदद मिलती है।

 

Conclusion

दोस्तों, इस Post में हमने जीका वायरस क्या है जानें इसके लक्षण, इलाज और बचाव के तरीके ( What is Zika Virus 2021,Treatment And Prevention in Hindi ) के बारे में बताया। हमारी ये पोस्ट कैसी लगी, कृपया कमेन्ट करके बताएं। अगर पोस्ट अच्छी लगी हो या आपको इस Post से related कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे comment करें और इस Post को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें।

 

by Tripti Srivastava
मेरा नाम तृप्ति श्रीवास्तव है। मैं इस वेबसाइट की Verified Owner हूँ। मैं न्यूमरोलॉजिस्ट, ज्योतिषी और वास्तु शास्त्र विशेषज्ञ हूँ। मैंने रिसर्च करके बहुत ही आसान शब्दों में जानकारी देने की कोशिश की है। मेरा मुख्य उद्देश्य लोगों को सच्ची सलाह और मार्गदर्शन से खुशी प्रदान करना है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!