Omicron और Delta के बाद अब New Variant Covid-19 Deltacron

दोस्तों अगर आपको अभी तक डेल्टाक्रॉन (What is Deltacron) के बारे में नही पता है कि डेल्टाक्रॉन  क्या है? Deltacron कितना खतरनाक है? तो आज की इस पोस्ट में मैं Deltacron (डेल्टाक्रॉन) के बारे में विस्तृत जानकारी देने वाली हूँ। इसलिए कृपया पूरी पोस्ट को ध्यान से पढें।

दुनिया में नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बाद अब एक और नए कोरोना स्ट्रेन डेल्टाक्रॉन (Deltacron) ने दस्तक दे दी है। साइप्रस के वैज्ञानिकों का दावा है कि उनके देश में डेल्टा (Delta) और ओमिक्रॉन (Omicron) वैरिएंट्स से मिलकर बना कोरोना वायरस का एक नया स्ट्रेन Deltacron पाया गया है। हालांकि, इस नए स्ट्रेन को लेकर स्टडी अभी शुरुआती दौर में हैं।

What is Deltacron
What is Deltacron

डेल्टाक्रॉन क्या है (What is Deltacron) ?

रिपोर्ट में कहा गया है कि Deltacron का जेनेटिक बैकग्राउंड डेल्टा वैरिएंट के समान है, साथ ही इसमें ओमिक्रॉन जैसे कुछ म्यूटेशन भी हैं। इसीलिए इसे ‘डेल्टाक्रॉन’ कहा गया है। साइप्रस में ‘डेल्टाक्रॉन‘ से पीड़ित लोगों के नमूनों की जांच में पाया गया कि इसमें ओमिक्रॉन के 10 म्यूटेशन थे।

साइप्रस ने 7 जनवरी को ही जिन 25 सैंपल में डेल्टाक्रॉन पाए गए थे, उन्हें जांच के लिए GISAID के पास भेजा है। GISAID इंफ्लूएंजा और कोरोना वायरस में परिवर्तन को ट्रैक करने वाला इंटरनेशनल डेटाबेस है।

किसने की नए स्ट्रेन Deltacron की खोज?

साइप्रस में डेल्टा वेरिएंट और ओमिक्रॉन वेरिएंट दोनों के लक्षणों को मिलाकर Covid -19 का एक New Variant,  “डेल्टाक्रॉन” की खोज की गई है। इस वायरस का नाम इसलिए दिया गया है क्योंकि यह डेल्टा और ओमिक्रॉन का मेल है। दरअसल, डेल्टाक्रॉन कोरोना का नया वैरिएंट नहीं है।

कोरोना के नए स्ट्रेन डेल्टाक्रॉन की खोज यूनिवर्सिटी ऑफ साइप्रस के लैबोरेटरी ऑफ बायोटेक्नोलॉजी एंड मॉलिक्यूलर वायरोलॉजी के हेड और बायोलॉजिकल साइंसेज के प्रोफेसर लियोनडिओस कोस्त्रिकिस (Leondios Kostrikis) के नेतृत्व वाली टीम ने की है।

New Strain Deltacron

नए स्ट्रेन डेल्ट्राक्रॉन को लेकर प्रोफेसर कोस्त्रिकिस ने कहा, ”यह ओमिक्रॉन और डेल्टा का को-इन्फेक्शन है और हमने जो स्ट्रेन पाया है उसमें इन दोनों का कॉम्बिनेशन है। इस खोज को डेल्टाक्रॉन नाम दिया गया है, क्योंकि डेल्टा जीनोम के अंदर ओमिक्रॉन जैसे जेनेटिक लक्षण मिले हैं।”

डेल्टाक्रॉन (Deltacron) के कितने केस मिले हैं?

डेल्टाक्रॉन ने कोरोना को लेकर दुनिया की टेंशन और बढ़ा दी है। रिसर्चर्स के मुताबिक, साइप्रस में अब तक डेल्टाक्रॉन के 25 मामलों का पता चला है। साइप्रस में जिन 25 लोगों में नया स्ट्रेन पाया गया है, उनमें से 11 लोग कोरोना पॉजिटिव होने के बाद हॉस्पिटल में भर्ती हुए थे। बाकी के 14 लोग ऐसे थो जो कोविड पॉजिटिव थे, लेकिन हॉस्पिटल में भर्ती नहीं थे।

यानी, इस नए कोरोना स्ट्रेन से इन्फेक्शन का खतरा हॉस्पिटल में भर्ती होने वाले लोगों को ज्यादा है। गैर-अस्पताल में भर्ती संक्रमणों की तुलना में अस्पताल में भर्ती मरीजों में डेल्टाक्रॉन ट्रांसमिशन अधिक दर्ज किया गया है।

Deltacron (डेल्टाक्रॉन) स्ट्रेन से कितना खतरा है ?

दुनियाभर में बढ़ते Omicron Variant के खतरे के बीच एक नए खतरे ने भी दस्तक दे दी है। इस खतरे का नाम है Deltacron। विशेषज्ञों ने सुझाव दिया है कि डेल्टाक्रॉन एक बड़ा खतरा नहीं हो सकता है। डेल्टाक्रॉन को लेकर विशेषज्ञ और अधिकारी चिंतित नहीं हैं।

यह भी पढें :

Nipah Virus Kya Hai | जानें इसके लक्षण और बचाव के 7 तरीके

What is Zika Virus 2021, Symptoms, Causes and Treatment | जीका वायरस क्या है?

एक्सपर्ट्स का मानना है कि कमजोर इम्यून सिस्टम वाले लोगों के डेल्टा और ओमिक्रॉन दोनों ही वैरिएंट से संक्रमित होने का खतरा ज्यादा रहता है। ऐसे ही लोगों के अंदर डेल्टा और ओमिक्रॉन के वायरस मिलकर नया सुपर स्ट्रेन डेल्टाक्रॉन बना रहे हैं। हालांकि यह वैरिएंट कितना घातक है और इसका क्या असर होगा, यह अभी कहना जल्दबाजी होगी।

Omicron

WHO ने डेल्टाक्रॉन पर क्या कहा ?

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) कोरोना वायरस के हर नए वैरिएंट्स पर नजर रखता है और उसकी गंभीरता के हिसाब से उसकी श्रेणी निर्धारित करता है। जैसे डेल्टा और ओमिक्रॉन को WHO ने ‘वैरिएंट ऑफ कंसर्न’ घोषित किया है, यानी ये दोनों वैरिएंट चिंताजनक श्रेणी मे हैं।

साइप्रस में पाए गए डेल्टाक्रॉन (Deltacron) पर WHO ने अब तक कुछ नहीं कहा है। यानी, साइप्रस के रिसर्चर्स जिसे Deltacron कह रहे हैं, उसे लेकर अभी वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन का कोई आधिकारिक बयान आना बाकी है।

Deltacron वेरिएंट का क्या है सच ? (Delta plus variant)

ओमिक्रॉन की वजह से दुनिया भर में कोरोना केसेज बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे समय में कोरोना का नया स्ट्रेन डेल्टाक्रॉन पाया गया है। एक नया कोरोना स्ट्रेन निश्चित तौर पर एक नई आफत जैसा है। शोधकर्ताओं की टीम के अनुसार अधिकतर उन लोगों में दोहरा संक्रमण पाया गया है जिन्हें कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

हालांकि यह भी ध्यान दिया जाना चाहिए कि फिलहाल इस तरह के वेरिएंट को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने फिलहाल आधिकारिक स्वीकृति नहीं दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक वैज्ञानिक ने कहा कि डेल्टाक्रॉन को वास्तविक नहीं माना जा सकता है।

Conclusion :

दोस्तों, इस Post में हमने डेल्टाक्रॉन ( What is Deltacron ) के बारे में बताया। हमारी ये पोस्ट कैसी लगी, कृपया कमेन्ट करके बताएं। अगर पोस्ट अच्छी लगी हो या आपको इस Post से related कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे Comment करें और इस Post को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें।

FAQ – Deltacron

Deltacron क्या है ?

यह Delta और Omicron का combination है। दरअसल, डेल्टाक्रॉन कोरोना का नया वैरिएंट नहीं है। ‘डेल्टाक्रॉन’ का जेनेटिक बैकग्राउंड डेल्टा वैरिएंट के समान है, साथ ही इसमें ओमिक्रॉन जैसे कुछ म्यूटेशन भी हैं। इसीलिए इसे ‘डेल्टाक्रॉन’ कहा गया है।

नए स्ट्रेन Deltacron की खोज किसने की?

कोरोना के नए स्ट्रेन डेल्टाक्रॉन की खोज यूनिवर्सिटी ऑफ साइप्रस के लैबोरेटरी ऑफ बायोटेक्नोलॉजी एंड मॉलिक्यूलर वायरोलॉजी के हेड और बायोलॉजिकल साइंसेज के प्रोफेसर लियोनडिओस कोस्त्रिकिस (Leondios Kostrikis) के नेतृत्व वाली टीम ने की है।

डेल्टाक्रॉन (Deltacron) के कितने केस मिले हैं?

रिसर्चर्स के मुताबिक, साइप्रस में अब तक डेल्टाक्रॉन के 25 मामलों का पता चला है। साइप्रस में जिन 25 लोगों में नया स्ट्रेन पाया गया है, उनमें से 11 लोग कोरोना पॉजिटिव होने के बाद हॉस्पिटल में भर्ती हुए थे। बाकी के14 लोग ऐसे थो जो कोविड पॉजिटिव थे, लेकिन हॉस्पिटल में भर्ती नहीं थे।

by Tripti Srivastava
मेरा नाम तृप्ति श्रीवास्तव है। मैं इस वेबसाइट की Verified Owner हूँ। मैं न्यूमरोलॉजिस्ट, ज्योतिषी और वास्तु शास्त्र विशेषज्ञ हूँ। मैंने रिसर्च करके बहुत ही आसान शब्दों में जानकारी देने की कोशिश की है। मेरा मुख्य उद्देश्य लोगों को सच्ची सलाह और मार्गदर्शन से खुशी प्रदान करना है।

Leave a Comment